Udaan News24

Latest Online Breaking News

ट्राइडेंट ग्रुप द्वारा सिविल अस्पताल, रेडक्रॉस सोसायटी व जिला जेल को सीएसआर फंड में से साढ़े तीन लाख राशि भेंट।

 3.3.2021। अखिलेश बंसल। उड़ान न्यूज़24।

पद्मश्री राजिंदर गुप्ता के नेतृत्व में ट्राइडेंट उद्योग समूह के वरिष्ठ अधिकारी ने डिप्टी कमिश्नर को दिए विभिन्न समाज सेवा कार्यों के लिए अलग-अलग राषि के तीन चेक।

बरनाला : ट्राइडेंट उद्योग समूह के चेयरमैन पद्मश्री राजिंदर गुप्ता बरनाला जिले में सामाजिक कार्यों में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। जिससे यह समूह जिला ही नहीं देशभर के लिए वरदान साबित हो रहा है, खासकर स्वास्थ्य सेवाओं और शिक्षा सेवाओं में। मंगलवार को पद्मश्री राजिंदर गुप्ता के निर्देश पर, ट्राइडेंट उद्योग समूह के अधिकारी गुरलवलीन सिंह सिद्धू ने जिला प्रशास्निक अधिकारी डिप्टी कमिश्नर तेज प्रताप सिंह फूलका को (2.5 लाख रुपये, 75000 रुपये और 20,000 रुपये) राशि के तीन चेक दिए हैं। जो विभिन्न प्रयोजनों से संबंधित बताए गए हैं। यह जानकारी ट्राइडेंट उद्योग समूह के प्रबंध मुखी रूपिंदर गुप्ता ने दी है।

         श्री गुप्ता ने बताया कि सिविल अस्पताल बरनाला के सीनियर मेडीकल आफिसर द्वारा ट्राइडेंट उद्योग समूह के नाम 21 जनवरी 2021 को एक लिखित पत्र आवेदन दिया गया था। जिसमें ओपीडी में एक दवा की दुकान, ओपीडी के लिए कमरे और बाथरूम स्थापित करने के लिए कार्पोरेट सोशल रेस्पॉंसीबिलिटी (सीएसआर) में से सहायता देने की मांग की गई थी। जिसके लिए ट्राइडेंट उद्योग समूह द्वारा 2.5 लाख रुपये का चेक दिया गया है। उधर जेल में कैदियों और बंदियों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के लिए जेल प्रशासन को 20,000 रुपये का चेक दिया गया। इसी तरह जिला रेडक्रॉस सोसायटी को 75,000 रुपये का चेक दिया गया ताकि जिला प्रशासन सामाजिक कार्यों के लिए उक्त राशि का उपयोग कर सके। इस अवसर पर एडीश्नल डिप्टी कमिश्नर आदित्य डेचलवाल, उपमंडलाधिकारी वरजीत सिंह वालिया भी उपस्थित थे।

कोरोना संकट में ट्राइडेंट बना संकटमोचक:-

गौरतलब है कि गत वर्ष फैली कोरोना महामारी के दौरान देशभर से समाचार प्रकाशित हुए थे कंपनियों का कारोबार रुकने से सैंकड़ों फैक्ट्रियों के मालिकों ने अपने कर्मियों के वेतन में भारी कटौती कर दी थी और काफी ने अपने मजदूरों को खाली हाथ घर ही भेज दिया था। लेकिन पंजाब प्रदेश के ट्राइडेंट उद्योग समूह ने ना केवल अपने कर्मचारियों को पूरा वेतन दिया बल्कि अनेक सुविधाएं कर्मियों को घर बैठे दी और जिला के सिविल व पुलिस प्रशासन को सहयोग देते हुए बल्क में मास्क/सैनेटाईजर/पीपीई किटें/राशन आदि उस समय भेंट किया जब देश की राजधानी में लोगों को 200-400 रुपए का मास्क खरीदना पड़ा था, सैनेटाईजर पूरी तरह से ब्लैक में खरीदना पड़ा था। लेकिन ट्राइडेंट उद्योग ने समाज सेवा सीमित नहीं रखी बल्कि फ्रंट लाइन में लोगों को दिन-रात सेवाएं प्रदान कर रही पुलिस के कर्मचारियों को सुरक्षित रखने के लिए अपने एक संपर्क वाले शिक्षा केंद्र की इमारत में हाईटेक कोविड सेंटर इंस्टाल करके दिया। जिसको दुनियाभर के मीडिया ने कवरेज किया।

एचएसआरओ को पद्मश्री गुप्ता से बड़ी आस:-

ह्यूमेन शोशलिस्ट रिपब्लिकन ऑगे्रनाईजेशन (एचएसआरओ) के चेयरमैन एडवोकेट करन अवतार कपिल का कहना है कि बरनाला जिला के लोगों की यह खुशकिस्मती है कि उसे पद्मश्री राजिंदर गुप्ता जैसा दानवीर मिला है। जिसकी बदौलत यहां का कारोबार बढ़ा है। उनके द्वारा स्थापित किए गए उद्योग के बाद ही छोटे से शहर को जिला का दर्जा मिला है। विश्वभर में जिला को पहचान मिली है। गत कुछ दिन पहले ही पद्मश्री राजिंदर गुप्ता ने बरनाला में महिलाओं के लिए अंर्तराष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी की स्थापना की है, जिसके नतीजन उन्हें यकीन है कि बरनाला में आधुनिक सुविधाओं से भरा सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल का निर्माण भी पद्मश्री गुप्ता ही करवा सकते हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button 

error: Content is protected !!